nwaj

भारत के सार्क सम्मेलन में हिस्सा लेने से इनकार करने के बाद फिलहाल सार्क की अध्यक्षता कर रहे देश नेपाल ने इस सम्मेलन को ही रद्द करने का फैसला किया है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को लगा अब तक का सबसे करारा झटका है।

इससे पहले मंगलवार को ही सरकार ने नवंबर में होने वाले सार्क सम्मलेन में हिस्सा न लेने का फैसला किया था। दक्षिण एशियाई देशों के संगठन सार्क का यह सम्मेलन नवंबर में इस्लामाबाद में होना था। सूत्रों के मुताबिक नेपाल, अफगानिस्तान, बांग्लादेश और भूटान भी भारत के इस फैसले के साथ खड़े हैं।

भारत ने फिलहाल सार्क की अध्यक्षता कर रहे देश नेपाल को बता दिया है कि सीमा पार से आतंकवादी हमले और सदस्य देशों के अंदरूनी मामलों में दखल दिया जा रहा है और यह काम दक्षिण एशिया के ही एक देश की ओर से हो रहा है। इस देश ने ऐसा माहौल बना दिया है, जिससे आयोजन सफल नहीं हो सकता है।

गौरतलब है कि भारत ने अभी एक दिन पहले ही संयुक्त राष्ट्र में बयान जारी कर पाकिस्तान को इसके लिए चेतावनी भी दे डाली है। इस सम्मेलन में हिस्सा न लेने की वजह साफ करते हुए बता दिया है कि वह क्षेत्रीय सहयोग और संपर्क के अपने वादे पर हमेशा खरा उतरता रहा है, लेकिन ये कदम तभी आगे बढ़ सकते हैं जब आतंक से मुक्त माहौल हो। मौजूदा हालात में सरकार यह महसूस करती है कि वह इस्लामाबाद में प्रस्तावित सम्मेलन में हिस्सा नहीं ले सकती है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.