super-market

केंद्र सरकार जल्‍द ही आपके नजदीकी सुपर स्‍टोर में सस्‍ती दवाएं उपलब्‍ध कराने की योजना बना रही है। इकॉनामिक्‍स टाइम्‍स के मुताबिक इस वित्तीय वर्ष के अंत तक 3,000 प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र शुरू करने की योजना है। इस बात की जानकारी डिपार्टमेंट ऑफ फार्मास्युटिकल्स के जॉइंट सेक्रटरी सुधांश पंत ने दी। पंत ने यह भी बताया कि
हम संगठित रिटेल समेत उन तमाम पक्षों तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जन औषधि योजना का हिस्सा हो सकते हैं।

इस संबंध में केंद्र सरकार ने जन औषधि को पूरा देश भर में फैलाने की प्रक्रिया शुरू कर दिया हैं। जन औषधि के लिए उसने बिग बजार व आदित्य बिडला ग्रुप जैसे सुपर मार्केट से संपर्क किया हैं।

सस्‍ती और जरूरी दवाएं यहां मिलेंगी
प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्रों पर सस्ते में जरूरी दवाएं, गैर-ब्रैंडेड जेनरिक दवाएं, अच्छी क्वॉलिटी के सर्जिकल चीजें मिलेगी। अभी तक सिर्फ 437 ऐसे स्टोर्स खोले गए हैं। हालांकि स्टोर्स का एक्सपैंशन भी काफी धीमी गति से हो रहा है। एक सरकारी अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं किए जाने की शर्त पर बताया कि देश के ड्रग रेग्युलेशन के कारण इस स्कीम को कुछ बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है। सरकार का इरादा सस्ती दवा के अपनी स्टोर्स ‘जन औषधि’ को पूरे देशभर में फैलाने का है।

6 महीने का समय
ऐसे में हजारों सस्ते मेडिकल स्टोर्स खोलने के लिए 6 महीने का समय दिया गया हैं। डिपार्टमेंट ऑफ फार्मास्युटिकल्स अपने अलायंस को लेकर कुछ बड़ा करने की तैयारी में है। सरकार जन औषधि ऑफर्स के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रही है। इस स्कीम से जुड़े कुछ मुद्दों पर स्वास्थ विभाग की भी मदद मांगी गई है। तकरीबन 30 साल पुरानी जन औषधि स्कीम का नाम बदलकर प्रधानमंत्री जन औषधि योजना किया गया है। इस साल के बजट में देशभर में 3,000 से ज्यादा स्टोर्स खोलने का प्रस्ताव है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.