amit-shah1
@ANI_news

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर हमला बोलते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि ‘दिल्ली के दामाद’ को खुश करने के लिए उन्होंने राज्य के गरीब लोगों को लूटा। उनका इशारा संभवत: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद राबर्ट वाड्रा की ओर था। शाह ने यह कहने के लिए भी हु्ड्डा को आड़े हाथ लिया कि सरकारी एजेंसियां द्वारा जांच राजनीतिक बदले की कार्रवाई के तहत शुरू की गयी गयी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता इस लिए बेचैन है कि भाजपा सरकार ने यह बेनकाब करना शुरू कर दिया कि कैसे उनके शासन में किसानों का शोषण किया गया और उनके धन को ‘दिल्ली दरबार’ को भेंट चढ़ाई गयी।

देश के विकास में हरियाणा का बड़ा योगदान
केन्द्रीय मंत्री एवं प्रमुख जाट नेता बीरेन्द्र सिंह द्वारा आयोजित गौरव रैली को सम्बोधित करते हुए शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहरलाल के नेतृत्व में हरियाणा विकास के पथ पर चल रहा है। राज्य सरकार हर वर्ग के उत्थान के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि देश के विकास में हरियाणा का बड़ा योगदान है। कृषि क्षेत्र में हरियाणा की कई उपलब्धियां हैं। खेल के क्षेत्र में भी हरियाणा ने देश का नाम रोशन किया है। उन्होंने आरोप लगाया, ‘हुड्डा ने दिल्ली के दामाद की सेवा के लिए हरियाणा के लोगों को लूटने का कोई भी मौका नहीं छोड़ा। हुड्डा का दायर केवल अपने परिवार, जाति, गांव और संबंधियों का ध्यान रखने तक सीमित था।’ उन्होंने वादा किया कि भाजपा सरकार सबका ध्यान रखेगी।


भाजपा प्रमुख शाह ने कहा कि जब ‘दिल्ली के दामाद’ को खुश करने के लिए नजराने में हरियाणा को लूट लिया अब फाइलें खुल रही हैं तो डर क्यों रहे हैं। इस बीच, रैली में उस वक्त अफरा तफरी मच गयी जब जेबीटी शिक्षकों ने अमित शाह को काले झंडे दिखाकर उनका विरोध किया। पुलिस ने आनन-फानन में विरोध करने वालों को पकड़ा और वहां से उन्हें ले जाया गया। रैली में सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम होने के बावजूद स्टेज के ठीक सामने बैठे कई जेबीटी टीचरों ने काले झंड़े दिखाने शुरू कर दिए और सरकार के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। काले झंड़े दिखाते ही रैली में अफरा-तफरी को माहौल हो गया। उल्लेखनीय है कि कुछ जेबीटी टीचर पिछले करीब 119 दिन से अपनी नियुक्ति को लेकर धरने पर बैठे थे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.