यूपी के सरधना से बीजेपी विधायक संगीत सोम के खिलाफ दर्ज सभी मुकदमों को वापस लेने के लिए योगी सरकार तैयारी कर रही है। यूपी सरकार ने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी हैं। बताया जा रहा है कि संगीत सोम के खिलाफ 2003 से लेकर 2017 तक करीब सात मामले दर्ज किए गये थे। ये मामले मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, मेरठ और गौतमबुद्धनगर में दर्ज किए गए थे।

जिनमें मुजफ्फरनगर में हुए दंगे के दौरान सहारनपुर और नोएडा में पंचायत करने के अलावा सरधना से कैराना तक पैदल मार्च निकालने को लेकर धारा 144 के उल्लंघन का भी मामला दर्ज है। जानकारी के मुताबिक, बीजेपी विधायक संगीत सोम के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालना, सरकारी आदेश की अवज्ञा, जाम लगाना, बवाल करना, शहर में दहशत फैलाना, आईटी एक्ट और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धाराओं में दर्ज मामले हैं।

यही नहीं बीजेपी नेता संगीत सोम पर देवबंद, मुजफ्फरनगर के खतौली, कोतवाली, सिखेड़ा, मेरठ और गौतमबुद्धनगर में मामले दर्ज हैं। संगीत सोम के इन मामलों को लेकर अब प्रदेश शासन के विशेष सचिव राम बिलास सिंह ने चारों जनपदों से रिपोर्ट तलब की है। इन रिपोर्टस को संबंधित अधिकारी तैयार कर रहे हैं।

अपने खिलाफ दर्ज इन मामलों को लेकर बीजेपी विधायक संगीत सोम का कहना है कि बसपा सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान द्वेष के चलते मुझ पर जबरन मुकदमे दर्ज किए गए थे। इन मामलों का कोई औचित्य नहीं था. वहीं उनके ऊपर चल रहे इन मुकदमों को वापस लेने के बारे पूछने पर उन्होंने जानकारी ना होने का हवाला दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.