राजधानी दिल्ली में तीन बार तलाक कहकर बीवी और बेटे को घर से निकालने का मामला सामने आया है। पीड़ित महिला ने पुलिस से मदद की गुहार लगाई थी और नए कानून के तहत ट्रिपल तलाक के अपराध होने के बाद दिल्ली में दर्ज होने वाला पहला मामला है। साथ ही पत्नी ने पति को दहेज के लिए परेशान करना भी बताया गया है। बाड़ा हिंदूराव पुलिस के पास महिला ने यह शिकायत की थी, जिसके बाद  पुलिस ने आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है। नॉर्थ डीसीपी नूपुर प्रसाद ने बताया कि आरोपी ने जून में महिला को तीन तलाक दिया था।

रायमा याहिया ने 2011 के नवंबर में अतीर शमीम से शादी की थी। अतीर आजाद मार्केट में रहता था। शादी के बाद रायमा ने बेटे को जन्म दिया, लेकिन रायमा के लिए ससुराल में हालात खराब होने लगी इसके बाद रायमा का पति रायमा को दहेज लाने के लिए परेशान करने लगा। घर बचाने के लिए रायमा हर दर्द सहती रही। महीनों-सालों तक पति की बर्बरता सहने के बावजूद वह चुप रही, लेकिन 2019 की  जून को अतीर ने शरीयत कानून की आड़ में रायमा की जिंदगी बर्बाद कर दी। आरोपी ने रायमा को तीन बार तलाक बोल कर उससे पिंड छुड़ा लिया।

आरोपी ने तीन बार कहा कि मैं तुझे तलाक देता हूं। फिर रायता को बच्चे के साथ घर से निकाल दिया।साथ ही इसका फतवा भी वॉट्सऐप पर दे दिया था. हालांकि अब इस मामले में ये राजधानी दिल्ली में पहली गिरफ्तारी है रायेमा को उम्मीद है कि इस मामले में उसको इंसाफ मिलेगा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.