केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश समेत देश भर के कई राज्यों में बाढ़ का कहर जारी है। केरल और महाराष्ट्र में तो सैलाब जानलेवा हो गया है, केरल में बारिश और बाढ़ से मची तबाही में अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं कर्नाटक में भी बाढ़ कहर बनकर टूट रही है। मध्य प्रदेश के कई जिले भीषण बाढ़ का प्रकोप झेल रहे हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र के सांगली में बाढ़ के हालात ऐसे हैं कि जिन सड़कों पर गाड़ियां दौड़ती थीं वहां आज नाव चल रही है।

शहर की दुकानें, बाजार, मॉल सब सैलाब में लापता हो गए हैं। केरल के वायनाड में बाढ़ ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई है, सेना के जवानों ने केरल के बाढ़ प्रभावित जिले वायनाड में एक नवजात बच्चे को बचाया है। एक बचाव दल केरल के मलप्पुरम के कवलप्परा पहुचा है जहां 8 अगस्त को भूस्खलन के बाद 30 से अधिक लोगों के लापता होने की आशंका है, खराब मौसम के कारण राहत एवं बचाव कार्य में बाधा आ रही है। एनडीआरएप की टीम ऐसे में लोगों के लिए देवदूत बनकर काम कर रही है। पानी से बचाकर लाखों लोगों को अब तक सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी कल बाढ़ पीड़ितों से मिलने अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड जाएंगे।

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने बताया कि पिछले तीन दिनों में महाराष्ट्र, केरल और कर्नाटक में मूसलधार बारिश होने से हालात और खराब हुए हैं. मौसम विभाग ने इन सभी राज्यों के साथ गुजरात, पश्चिमी मध्य प्रदेश और पूर्वी राजस्थान में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात समेत देश के कई राज्यों में पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश से बाढ़ ने विकराल रूप ले लिया है। इन राज्यों में अबतक बाढ़ की वजह से 70 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। बाढ़ के कारण लाखों लोग प्रभावित हुए हैं और हजारों लोगों को राहत शिविरों में रखा गया है। शिविरों में लोगों की ज्यादा भीड़ होने के कारण अब परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.