अगर आप होम या ऑटो लोन लेने की सोच रहे हैं तो आपके लिए अच्‍छी खबर है। रिजर्व बैंक के रेपो रेट कट का असर दिखने लगा है। स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया के बाद तीन और बैंकों ने लोन पर ब्‍याज दर में कटौती की है। दरअसल इस कटौती के बाद नए लोन के अलावा पुराने लोन की ईएमआई भी सस्‍ती हो जाएगी। देश के जिन तीन बैंक ने लोन सस्‍ते किए हैं उनमें ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स(ओबीसी), बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र और आईडीबीआई बैंक शामिल हैं।

सार्वजनिक क्षेत्र के इन बैंकों ने विभिन्‍न अवधि के लोन पर ब्‍जाज दर मार्जिनल कॉस्ट ऑफ बेस्ट लेंडिंग रेट्स (एमसीएलआर) में 0.05 फीसदी से लेकर 0.15 फीसदी तक की कटौती की है। आईडीबीआई बैंक की बात करें तो एक साल की अवधि के कर्ज पर MCLR को 0.10 फीसदी कम करके 8.95 फीसदी कर दिया है।

तीन महीने से 3 साल के लिए ब्याज दरों में 0.05 से 0.15 फीसदी की कटौती की गई है। हालांकि एक दिन और एक महीने की अवधि के कर्ज पर दरें अपरिवर्तित रखी गई हैं। ये नई दरें 12 अगस्त से लागू होंगी। इसी तरह ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स ने अलग-अलग अवधी के कर्ज पर MCLR में 0.10 फीसदी तक की कटौती की है। एक साल के कर्ज की MCLR 0.10 फीसदी घटकर अब 8.55 फीसदी पर आ गई है।

बता दें कि एक साल का MCLR मानक दर होता है। इसी के तहत ऑटो, पर्सनल और होमल लोन के लिए ब्याज दर निर्धारित की जाती है। बैंक की नई दरें 10 अगस्त से प्रभावी होंगी। वहीं, बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र की MCLR कटौती के बाद 1 साल की ब्‍याज दर 8.50 फीसदी हो गई है। दरअसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक के नतीजे आ गए हैं। इस बैठक में रेपो रेट में 35 बेसिस प्‍वाइंट की कटौती की गई है। इसके बाद अब रेपो रेट 5.75 फीसदी से घटकर 5.40 फीसदी हो गया है। केंद्रीय बैंक के इस फैसले के तुरंत बाद SBI ने ब्याज दर में 0.15 फीसदी की कटौती की थी। अब स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की 1 साल की नई मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (MCLR) 8.25 फीसदी हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.