लोकसभा चुनाव में हार का सामना करने के बाद पहली बार राहुल गांधी अमेठी के दौरे पर जाएंगे। कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद उनका यह पहला दौरा होगा। अमेठी में राहुल गांधी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से भी मुलाकात करेंगे। माना जा रहा है कि राहुल गांधी अपनी हार की समीक्षा भी करेंगे, अमेठी से राहुल गांधी 2004, 2009 और 2014 में चुनाव जीते थे, लेकिन 2019 का चुनाव बीजेपी की स्मृति ईरानी से हार गए। राहुल गांधी 10 जुलाई को अमेठी में अपने कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को घोषणा की कि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है और उन्हें लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन के लिए दोषी ठहराया जाना चाहिए, क्योंकि पार्टी 542 में से केवल 52 सीटों पर ही जीत दर्ज कर पाई। यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी के बेटे राहुल गांधी ने ट्विटर पर एक खुले पत्र में सार्वजनिक रूप से कहा कि बीजेपी की व्यापक जीत ने यह साबित कर दिया है कि देश के संस्थागत ढांचे पर कब्जा करने का आरएसएस का लक्ष्य अब पूरा हो गया है।

राहुल गांधी ने ट्विटर अकाउंट के जरिए कहा, “‘कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष के तौर पर मैं 2019 के चुनाव के नुकसान के लिए जिम्मेदार हूं, हमारी पार्टी के भविष्य के विकास के लिए जवाबदेही महत्वपूर्ण है। राहुल ने कहा “यही कारण है कि मैं कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं। संसद में पत्रकारों से बातचीत में राहुल ने कहा, “मैंने पहले ही अपना इस्तीफा सौंप दिया है और मैं अब पार्टी अध्यक्ष नहीं हूं।

राहुल के लिखे पत्र में कहा गया, “पार्टी के पुनर्निर्माण के लिए कठोर निर्णयों की आवश्यकता होती है और 2019 की विफलता के लिए कई लोगों को जवाबदेह बनाना होगा। राहुल ने कहा कि पार्टी के अध्यक्ष के तौर पर अपनी जिम्मेदारी को अनदेखा कर दूसरों को जवाबदेह ठहराना अन्याय होगा। उन्होंने कहा कि किसी नए व्यक्ति के लिए कांग्रेस का नेतृत्व करना महत्वपूर्ण था और उनके लिए उस व्यक्ति का चुनाव करना सही नहीं होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.